Bhartiya New Year | नव संवत्सर की हार्दिक शुभकामनाएं

चैत्र शुक्ल प्रतिपदा,हिन्दू नव वर्ष की ढेर सारी शुभकामनायें राष्ट्रकवि दिनकर जी की रचना के माध्यम से-

ये धुंध कुहासा छंटने दो
रातों का राज्य सिमटने दो
प्रकृति का रूप निखरने दो
फागुन का रंग बिखरने दो,
प्रकृति दुल्हन का रूप धर
जब स्नेह – सुधा बरसायेगी
शस्य – श्यामला धरती माता
घर -घर खुशहाली लायेगी,
तब चैत्र-शुक्ल की प्रथम तिथि
नव वर्ष मनाया जायेगा
आर्यावर्त की पुण्य भूमि पर
जय-गान सुनाया जायेगा …

नव संवत्सर की हार्दिक शुभकामनाएं