​कोई भी व्यक्ति तुम्हारे पास तीन कारणों से आता हे ।

भाव से , आभाव से और प्रभाव से ।

यदि भाव से आया हे तो उसे प्रेम दो।

आभाव में आया हे तो मदद करोऔर

यदि प्रभाव में आया हे तो  प्रसन्न हो जाओ की परमात्मा ने तुम्हे इतनी क्षमता दी हे ।